क्या आप भी रातभर चलाकर सोते हैं पंखा? आज के बाद भूल से भी ना करें ये गलती

0
164

भारत में आज भी ज्यादातर लोगों के घर एसी की जगह पंखा ही लगा है. चाहे तेज गर्मी हो या हलकी सी उमस, लोगों को पंखे से ही राहत मिलती है. विदेशों में हालांकि अब फैन का कांसेप्ट काफी तेजी से सिमटता जा रहा है. लेकिन भारत में लगभग हर घर में ही पंखे का इस्तेमाल होता है. हम में से कई लोगों को रातभर पंखा चलाकर सोने (Sleeping Overnight With Fans On) की आदत होती है. कम गर्मी हो तो फैन को एक या दो पर करके हम छोड़ देते हैं, अगर गर्मी है तो फैन पूरी स्पीड से पांच नंबर पर रेगुलेट होता है. अगर आपको भी रातभर पंखा चलाकर सोने की आदत है तो ये खबर आपके लिए हैं. इस न्यूज को पढ़ने के बाद शायद आप आगे से ऐसी गलती नहीं करेंगे.

रात में फैन चलाकर सोने से भले ही आपके रूम का तापमान कम हो जाता है, लेकिन इसकी वजह से आपको कई अन्य तरह की परशानियों का सामना करना पड़ सकता है.खासकर जब तेज गर्मी पड़ती है, तब लोगों को ऐसा बिलकुल नहीं करना चाहिए. इससे कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ जाता है. एक्सपर्ट्स का सुझाव है कि अगर तेज गर्मी पड़ रही है, तो रातभर फैन चलाने के अलावा भी कई अन्य उपाय हैं, जिससे आप रूम को ठंडा रख सकते हैं. इन्हीं तरीकों को अपनाना ज्यादा बेहतर है. ना कि रात भर पंखा चलाना.

स्वास्थ्य पर पड़ता है खराब असर
एक्सपर्ट्स के मुताबिक़, गर्मी पड़ने पर कोशिश करें कि दिन के समय कमरे में पर्दा लगाए रखे. इससे रूम का टेम्परेचर कम रहेगा. साथ ही अगर आप रातभर पंखा चलाते हैं, तो आज से ही ऐसा करना बंद कर दें. इस आदत की वजह से आपको कई तरह के नुकसान हो सकते हैं. इसमें सबसे ज्यादा बुरा असर आपकी हेल्थ पर होता है. जी हां, रातभर चलने वाले फैन की वजह से आपको कई तरह की बीमारियां अपनी चपेट में ले सकती हैं. स्लीप एक्सपर्ट और MattressNextDay के सीईओ मार्टिन सीले ने लोगों को इसकी जानकारी डिटेल में दी.

इसलिए है खतरनाक
रातभर फैन ऑन कर सोने से अगले दिन आपको बॉडी में दर्द की समस्या होती है. खासकर से बॉडी पेन है तो फैन के नीचे सोना आपके लिए और भी ज्यादा तकलीफदेह होता है. ऐसे में आपको रात में फैन के नीचे सोना अवॉयड करना चाहिए. मार्टिन सीले के मुताबिक़, ठंडी हवा की वजह से मसल्स में खिंचाव होता है और आपको और भी ज्यादा दर्द झेलना पड़ जाता है. यहां तक कि आपको आपकी गर्दन में भी दर्द महसूस होने लगेगा. अस्थमा के मरीजों को तो ऐसा बिलकुल भी नहीं करना चाहिए. इसकी वजह से आपको दिन में ज्यादा छींकें आएंगी, आपकी आंखों से पानी गिरेगा और सांस सामना करना पड़ेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

17 − fourteen =