हवाबाजी: बच्चों से परेशान महिला ने घर पर ही बना दी कोरोना वैक्सीन

0
485

नई दिल्ली। कामवाली बाई के न आने से परेशान सुर्पनखा देवी नाम की महिला ने अपने घर पर ही कोरोना की वैक्सीन बना डाली। खबर सामने आने के बाद से गुरुग्राम से लेकर मैनहैटन तक कोहराम मच गया है। यहां तक कि खुद डॉनल्ड ट्रंप वॉशिंगटन से टेंपो करके महिला को धन्यवाद देने कल शाम गुरुग्राम आए। वैक्सीन ढूंढने वाली महिला के बारे में बताया जा रहा है कि वह इतनी आलसी थी कि उसने छींक आने के बाद नाक पौंछने के लिए भी एक लड़का रखा हुआ था। यहां तक कि खाना खाने के बाद उसे दो लोग हवा में उछालकर डकार दिलवाते थे। ऐसी सुर्पनखा देवी को पिछले डेढ़ महीने से घर के सारे काम खुद करने पड़ रहे थे। इन सबसे वो इतना पक चुकी थी कि उसने तय किया कि वो खुद ही रसोई में कोरोना की वैक्सीन बना डालेगी!

– हादसे से बनी कोरोना वैक्सीन
एक दिन सुर्पनखा देवी ने फेसबुक फ्रेंड्स की नकल करते हुए अपने हाथ से ही गोभी मंचूरियन बना डाला। जिसका एक चम्मच खाते ही उसके पति ने कह दिया कि तुम चाहो तो मुझे घर के बाहर रखी ईंट के ऊपर काला नमक लगाकर दे दो, मगर भगवान के लिए इसे मेरे आगे से ले जाओ। खबर है इसके बाद सुर्पनखा देवी ने गोभी मंचूरियन की पूरी सब्जी सड़क किनारे बैठे कुत्तों को डाल दी।

इसके बाद सुर्पनखा देवी के हाथ का बना गोभी मंचूरियन चखते ही दो कुत्ते तुरंत बेहोश हो गए जिसके बाद आसपास के इलाकों के कुत्ते भी वहां आए और सुर्पनखा देवी के घर के बाहर भौंकने लगे। ज्यादा शोर होने पर पड़ोसियों ने पुलिस को फोन कर दिया। इसके बाद पुलिस के साथ आई। फरेंसिक टीम, सुर्पनखा देवी और गोभी मंचूरियन दोनों को अपने साथ ले गई।

– जांच में आए चौंकाने वाले नतीजे
टीम ने सुर्पनखा देवी के हाथों बने गोभी मंचूरियन के कुछ सैंपल फरेंसिक जांच के लिए पुणे स्थित एक लैब में भेजे। आपको बता दें ये वही लैब है जहां पिछले कई दिनों से देशभर के डॉक्टर्स कोरोना की वैक्सीन खोजने में लगे थे। डॉक्टरों ने जैसे ही जांच शुरू की तो वो खुशी के मारे पागल हो गए। डॉक्टरों ने देखा कि सुर्पनखा देवी के हाथों बने गोभी मंचूरियन के अंदर कोरोना से लड़ने वाले एंटीबायॉटिक मौजूद थे। इसके बाद ट्रायल के लिए डॉक्टरों ने उस मंचूरियन का एक टुकड़ा कोविड 19 पॉजिटिव मरीज को दिया जो इसे खाने के आधे घंटे में ही ठीक हो गया और बेड पर खड़ा होकर नाचने लगा।

– दुनियाभर में मचा तहलका
कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाए जाने की खबर मिलने के बाद दुनियाभर में तहलका मच गया है। खबर है कि वैक्सीन बनाए जाने की खुशी में ब्रुनेई के सुल्तान ने अपनी खानदानी तलवार और मां के दहेज में आए गहनों के साथ-साथ अपनी पूरी दौलत सुर्पनखा देवी के नाम कर दी है। इस खोज के बाद किम जोंग उन इतना भावुक हुए कि उन्होंने उत्तर कोरिया की सत्ता छोड़कर दिल्ली की आजादपुर सब्जी मंडी में लहसून का ठेला लगाने का फैसला किया है और खुद डॉनल्ड ट्रंप स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को उखाड़कर उसकी जगह स्टैच्यू ऑफ सुर्पनखा लगाने वाले हैं।

– पति की विशेष अपील
इस बीच सुर्पनखा को मिली अंतरराष्ट्रीय पहचान के बाद उनके पति बेचारे मोहन आगे आए हैं। बेचारे का कहना है कि दुनिया ने तो उनकी पत्नी के टैलंट को आज पहचाना है मगर लॉकडाउन के पहले ही दिन बीवी के हाथ की सब्जी खाते ही मैं समझ गया था कि इसका इस्तेमाल जैविक हथियारों के तौर पर किया जा सकता है। बेचारे मोहन ने सरकार से गुजारिश की है कि वो एक बार सुर्पनखा के हाथों बने खाने का चीन में लंगर लगवा दें। उसके बाद चीनी, चमगादगड़ खाना तो दूर, प्याज-लहसून को हाथ लगाना भी छोड़ देंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen − three =