इंसानों की खोपड़ी को हाथ में लेकर नाचते हैं श्रद्धालु, अजीबोगरीब हैं यहां के रीति-रिवाज

0
840

क्या आपने कभी सुना है ऐसी पूजा के बारे में; जिसमें इंसानों के सिर को हाथ में लेकर नृत्य किया जाता है. जी हां, हमारे देश में कई ऐसी परंपराएं हैं, जिनके बारे में हम अनजान रहते हैं, लेकिन यह रीति-रिवाज बरसों पुरानी है. अभी भी लोग इसे बड़े ही धूमधाम से मनाते हैं. इंसानों के सिरों को हाथ में लेकर नाचते हुए बड़े ही उत्सुकता से यह रीति-रिवाज भारत के बर्धमान में मनाया जाता है.

बर्धमान में मनाया जाने वाला गजन त्यौहर
नवरात्रि के मौके पर पश्चिम बंगाल के बर्धमान में मनाया जाने वाला यह त्यौहर काफी मशहूर है. यह हिंदू त्योहार भारत में काफी प्रचलित है. बर्धमान की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही हैं

अनोखा है ‘गजन त्योहार
भारत के पश्चिम बंगाल स्थित बर्धमान में ‘गजन त्योहार’ (Gajan Festival) काफी प्रचलित है. यह त्योहार करीब एक हफ्ते तक हिंदू रीति-रिवाज के अनुसार मनाया जाता है.

देवी-देवताओं के वेशभूषा में करते हैं नृत्य
सड़कों पर हिंदू देवी-देवताओं के वेशभूषा में नृत्य करने वाले लोग बेहद ही पारंपरिक तरीके से खुद को प्रस्तुत करते हैं. इनके आस-पास खड़े सैंकड़ों लोग इन श्रद्धालुओं को निहार रहे होते हैं.

हर साल अप्रैल महीने में मनाया जाता है
गजन त्योहार हर साल अप्रैल महीने में मनाया जाता है. इसी तरह पारंपरिक वेशभूषा और शस्त्रों के साथ नृत्य करते हुए सड़कों पर लोगों का हुजूम निकल पड़ता है.

इंसानों की खोपड़ी होती है हाथ में
इंसानों की खोपड़ी को पकड़े हुए शख्स ने फूलों और पत्तियों से सजाई गई माला पहन रखी है. वहां मौजूद हिंदू श्रद्धालु इन दृश्यों को देखने के बाद काफी मंत्रमुग्ध हो जाते हैं.

भगवान शिव, नील और धर्मराज की पूजा
मेल ऑनलाइन के खबर के मुताबिक, गजन त्योहार में हिंदू देवता भगवान शिव, नील और धर्मराज की पूजा की जाती है. फोटो में देखा जा सकता है कि नृत्य करने वाले लोगों के हाथ में इंसानों की खोपड़ियों के साथ सिर के बाल और दांत भी मौजूद हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × 5 =