हवाबाजी: लॉकडाउन में यूट्यूबर ने घरवालों से ही कर डाला प्रैंक, हुई जूत्ते-चप्पलों से पिटाई

0
251

लॉकडाउन के दौरान एक यूट्यूबर को अपने घर में प्रैंक करना भारी पड़ गया। जिसके कारण अब उसे घरवाले सब्जी लाने के लिए जबरदस्ती मार्केट भेजते हैं। खबर दिल्ली के शाहदरा की है। तरुण नाम का एक यूट्यूबर अपने चैनल पर प्रैंक वीडियो पोस्ट करता था। वह हर दूसरे दिन में एक प्रैंक वीडियो अपलोड करता लॉकडाउन के शुरुआती दिनों में उसने कई बार बाहर जाकर वीडियो बनाने की कोशिश की लेकिन हर बार वह पुलिस के हाथों चढ़ता और डंडे खाकर वापस आ जाता।

इस लॉकडाउन के कारण वह कई दिन से बाहर नहीं जा पा रहा था। प्रैंक नहीं कर पाने के कारण उसे कई बीमारियों ने जकड़ लिया। वह नींदों में चलने लगा, सोते वक्त बड़बड़ाता, दीवार पर लगे बल्बों को हिडन कैमरा समझकर उसी में देखकर बोलने लगा। उसकी इन हरकतों की वजह से कई बीमारियां उसके अंदर लॉकडाउन हो गईं। जब और कोई रास्ता समझ नहीं आया तो उसने घरवालों के साथ ही प्रैंक करना शुरू कर दिया। घर में प्रैंक के लिए उसने अपने पापा को चुना।

प्रैंक में उसने पापा को 2,000 के 3 नोट दिए। अब जो लड़का वीडियो बनाने के लिए ट्रायपॉड लाने तक के पैसे पापा से मांगता था, उसके हाथ से 6 हजार रुपये पाकर पापा फूले नहीं समाए। उन्हें लगा कि शायद बेटे ने इस मुश्किल वक्त में अपनी सेविंग के पैसे बाप को दिए हैं। वह इन पैसों से बाज़ार को कुछ राशन लेने जा ही रहे थे कि पापा मेरे पैसे लौटा दो, ये एक प्रैंक था। वहां कैमरा लगा है, एक बार देखकर हाथ हिला दीजिए। बस यह सुनते ही पापा की बीपी लो और क्रोध का लेवल हाई हो गया।

इसके बाद पापा ने कैमरे की तरफ देखकर तो हाथ नहीं हिलाया लेकिन तरुण पर खूब सारे हाथ चला दिए। पापा का गुस्सा देख मां भी कमरे में आई। पूरा मामला पता चलने पर मां ने भी उसे खूब डांटा। और घरवालों से मजाक करने की सजा के तौर पर उसे रोज बाहर सब्जी लाने भेजने का फरमान सुना दिया। अब तरुण एकदम फंस गया है। सब्जी लेने बाहर जाता है तो पुलिसवाले मारते हैं और सब्जी लेने नहीं जाता है तो पापा मारते हैं। वह नींदों में यही कहता है, ‘अब हम करें तो करें क्या और बोलें तो बोलें क्या?’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × three =